10th Science Examination 2024 :- बिहार बोर्ड मैट्रिक विज्ञान परीक्षा 2024 महत्वपूर्ण लघु एवं दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ।

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

10th Science Examination 2024 :- बिहार बोर्ड मैट्रिक विज्ञान परीक्षा 2024 महत्वपूर्ण लघु एवं दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ।

 

10th Science Examination 2024 :- बिहार बोर्ड मैट्रिक विज्ञान परीक्षा 2024 महत्वपूर्ण लघु एवं दीर्घ उत्तरीय प्रश्न ।

यदि आप अभी बिहार बोर्ड से 2024 में मैट्रिक का परीक्षा देने के लिए तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए किस आर्टिकल के माध्यम से विज्ञान का महत्वपूर्ण लघु एवं दीर्घ उत्तरीय प्रश्न बताया गया जो सीधे आपके परीक्षा में मिलने वाला है तो चलिए आप लोग नीचे हिंदी का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन याद कर ले ताकि आपको एग्जाम में अच्छा सा अच्छा नंबर मिले ।

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
10th Science Examination 2024
10th Science Examination 2024

 

1 . उत्कृष्ट गैसों को अलग समूह में क्यों रखा गया है ?

उत्तर :

सभी तत्त्वों में से उत्कृष्ट गैसें जैसे- हीलियम (He), निऑन (Ne), आर्गन (Ar), क्रिप्टॉन (Kr) तथा जीनॉन (Xe) सबसे अक्रियाशील है। इसलिए मेंडलीफ ने उन्हें अलग वर्ग में रखा जिसे अपने शून्य वर्ग कहा ।

 

2 . इथेनॉल से इथेनोइक आल में परिवर्तन को ऑक्सीकरण अभिक्रिया क्यों कहा जाता है ?

उत्तर :

इथेनॉल से जब ऑक्सीजन परमाणु प्रतिक्रिया करता है तो इथेनॉल के दो हाइड्रोजन परमाणु ऑक्सीजन परमाणु से संयुक्त होकर जल का एक अणु बनाकर अलग हो जाते हैं जिससे इथेनल (एसीटल्डिहाइड बनता है। किसी अणु से हाइड्रोजन का निकलना ऑक्सीकरण कहलाता है। फिर, बने हुए इथेनल से जब एक परमाणु ऑक्सीजन जुड़ता है तो इथेनोइक अम्ल बनता है और ऑक्सीजन का जुड़ना ऑक्सीकरण है। इसलिए इथेनॉल से इथेनोइक अम्ल का बनना एक ऑक्सीकरण प्रतिक्रिया कहलाता है।

3 . प्रयोगशाला में मिथेन गैस बनाने की विधि एवं क्लोरीन के साथ इसकी रासायनिक अभिक्रिया लिखे।

उत्तर :

प्रयोगशाला में मिथेन गैस बनाने के लिए एक कड़े काँच की परखनली में सोडियम एसिटेट एवं सोडा लाइम के मिश्रण को रखकर चित्र के अनुसार उपकरण को सजाया जाता है। परखनली को गर्म करने पर CH, गैस बनती है जिसे जल विस्थापन विधि से जमा किया जाता है।

 

4 . आमाशय में पाचक रस की क्या भूमिका है? से कोयला प्राकृतिक गैस एवं पेट्रोलियम है।

उत्तर :

 

आमाशय में सावित होने वाले पाचक रस भोजन का पाचन करता है, हाइड्रोक्लोरिक अम्ल निष्क्रिय पेप्सिनोजेन को सक्रिय पेप्सिन नामक एंजाइम में बदल देता है यह भोजन के प्रोटीन को पेप्टोन में बदल देता है। आमाशय में प्रोटीन के अतिरिक्त वसा का भी पाचन कर वसा को वसा अम्ल तथा ग्लिसरॉल बनाता है।

 

5 . उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस क्यों कहा जाता है?

उत्तर :

प्रकाश की किरणें जब उत्तल लेंस पर आपतित होती है तो अपवर्तित होकर एक ही बिंदु पर मिलती अर्थात् एक ही बिंदु पर अभिसारित होती है। इसी कारण से उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस कहा जाता है।

 

6 . प्रतिरोधों का संयोजन क्या है? यह कितने प्रकार से होता है ?

उत्तर :

प्रतिरोधकों को परस्पर संयोजित करना प्रतिरोधों का संयोजन कहलाता है। यह दो प्रकार से होता है।

 

7 . संयोजी इलेक्ट्रॉन क्या है? सोडियम परमाणु में स्थित संयोजी इलेक्ट्रॉन की संख्या लिखें।

उत्तर :

 

किसी तत्व के परमाणु में बाह्यतम कक्षा में उपस्थित इलेक्ट्रॉन को संयोजी इलेक्ट्रॉन कहा जाता है। सोडियम परमाणु का परमाणु द्रव्यमान 11 है। अतः इसके पहले कक्षा में 2, दूसरे कक्षा में 8 तथा तीसरे अर्थात् अंतिम कक्षा में 1 इलेक्ट्रॉन होते हैं। अतः Na के संयोजी इलेक्ट्रॉनों की संख्या 1 है।

 

8 . नर तथा मादा जनन हार्मोनों के नाम एवं कार्य लिखें।

उत्तर :

नर जनन हार्मोन का नाम शुक्राणु है जबकि मादा जनन हार्मोन का नाम अण्डाणु है। यौनि संभोग के समय वीर्य के साथ शुक्राणु मादा जननांग में पहुँचाता है वहाँ मादा के अण्डाणु से मिलकर निषेचित होती है।

 

9 . दृष्टि दोष क्या है? यह कितने प्रकार के होते हैं? इनका निवारण कैसे किया जाता है ?

उत्तर :

जिन व्यक्तियों के नेत्र में प्रतिबिम्ब रेटिना पर नहीं बनता है, उनके लिए कहा जाता है कि उन्हें दृष्टि दोष है। दृष्टि दोष निम्नलिखित होते हैं-
(I ) निकट दृष्टि (ii) दूर-दृष्टि (ii) अभिदुकता और (iv) जरा दूदर्शिता
सकता है परंतु दूरी रख वस्तुओं को वह सुस्पष्ट नहीं देख पाता। ऐसे दोषयुक्त नेत्र में दूर रखी वस्तु का

(1) निकट दृष्टिदोष : निकट दृष्टिदोष युक्त कोई व्यक्ति निकट रखी वस्तुओं को तो स्पष्ट देख प्रतिबिंब रेटिना पर न बनकर रेटिना के सामने बनता है।
कारण इस दोष के होने का मुख्य कारण निम्नलिखित है-(i) नेत्र गोलक का लंबा हो जाना नेत्र-लेंस और रेटिना के बीच की दूरी का बढ़ जाना तथा

(ii) नेत्र-लेस का आवश्यकता से अधिक जाना जिसके फलस्वरूप उसकी फोकस दूरी का कम हो जाना।

उपचार : निकट दृष्टिदोष को दूर करने के लिए उचित फोकस दूरी के अवतल लेंस (अपसारी लेस) चश्मे का उपयोग किया जाता है। अवतल लेंस दूरस्थ वस्तु से आनेवाली समांतर किरणों को इतना अपसारित कर देता है कि दूरस्थ वस्तु का स्पष्ट प्रतिबिंब रेटिना पर बन जाता है। निकट रखी वस्तुओं को वह स्पष्ट नहीं देख पाता है। इस स्थिति में प्रतिबिब रेटिना के पीछे बनता है।
(ii) दूर-दृष्टि दोष दूर दृष्टि दोष युक्त कोई व्यक्ति दूर की वस्तुओं को तो स्पष्ट देख सकता है। कारण इस दोष के होने के मुख्य कारण अपलिखित है-
(i) नेत्र गोलक का छोटा हो जाना नेत्र-लेंस और रेटिना के बीच की दूरी का कम हो जाना तथा
(ii) नेत्र-लेस का आवश्यकता से का उपयोग किया जाता है। निकट बिन्दु पर रखी वस्तु से आनेवाली किरणों को इतना अभिसरित उपचार दूर-दृष्टि दोष को दूर करने के लिए उचित फोकस दूरी के उत्तल लेंस (अभिसारी लेस) के पतला हो जाना जिससे उसकी फोकस दूरी का बढ़ जाना। देता है कि उस वस्तु का स्पष्ट प्रतिबिंब रेटिना पर बनता है।

 

10 . लघुपथन से आप क्या समझते हैं?

उत्तर:

कभी-कभी ऐसा होता है कि मेन आपूर्ति लाइन से जुड़े गर्म तथा ठंढे तार आपस में सट जाते हैं जिससे परिपथ का प्रतिरोध लगभग शून्य हो जाता है तथा धारा की प्रबलता काफी बढ़ जाती है। परिणाम यह होता है कि इससे जुड़े उपकरण बहुत ही गर्म होकर नष्ट हो जाते हैं। परिपथ में धारा के इस प्रकार बढ़ने की घटना को लघुपथन कहा जाता है।

 

11 . प्रकाश का परावर्तन क्या है? इसके नियमों का सचित्र उल्लेख करें।

 

उत्तर :

जब प्रकाश की किरण किसी चिकनी सतह पर आपतित होती है तो उसी दिशा में परावर्तित हो जाती है। इसके दो नियम हैं।

 

12 . प्रायोगिक विवरण द्वारा बताएँ कि प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में ऑक्सीजन गैस मुक्त होती है।

 

उत्तर :

जलीय पौधा हाइड्रिला की कुछ टहनियाँ तोड़कर उन्हें जल से भरे एक बीकर में कीप के चित्र की भौति रखा। कीप के ऊपर एक परखनली को जल से भरकर सावधानीपूर्वक उल्टा रख दिया। इस पूरे समायोजन को धूप में रखा। हम पायेंगे कि पत्तियों के पास से गैस के बुलबुले उठते हैं जो परखनली में जाते हैं। परखनली के जल का स्तर नीचे गिरता जाता है। परखनली की गैस का परीक्षण किया। यह ऑक्सीजन है।

 

यह भी पढ़े ; Sahara India Payment List Jari : सहारा इंडिया सभी निवेशकों को एक साथ वापस होगा पूरा पैसा देखें ।

नोट : –

यदि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगे तो हमारे इससे जुड़ी और भी आर्टिकल में मैट्रिक का सभी विषय का सब्जेक्टिव एवं ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन को तैयारी किया जाता है तो इस वेबसाइट को जरूर फॉलो कर ले ताकि आपको हर विषय में सबसे महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव एवं ऑब्जेक्टिव प्रश्न मिलता रहे ।

Leave a Comment

यहां क्लिक करे और जाने ।